बलौदाबाजार कीे घटना पर मंत्रियों ने की पत्रकार वार्ता

खाद्य मंत्री श्री दयालदास बघेल ने जिला मुख्यालय बलौदाबाजार में हुई घटना के संबंध में आज यहां न्यू-सर्किट हाउस में पत्रकारों को सम्बोधित किया। इसक मौके पर स्वास्थ्य मंत्री श्री श्याम बिहारी जायसवाल, राजस्व मंत्री श्री टंकराम वर्मा और विधायक श्री डोमनलाल कोर्सेवाड़ा उपस्थित थे। खाद्य मंत्री श्री दयाल दास बघेल ने पत्रकारोें को सम्बोधित करते हुए कहा कि बाबा गुरुघासी दास के अनुयायी शान्ति और सोहार्द को मानने वाले होते है। कभी हिंसा के मार्ग पर नहीं जा सकते।

माननीय मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय ने 15-16 मई की दरमियानी रात पवित्र अमर गुफा में जैतखंभ को क्षति पहुंचाने वाली घटना के न्यायिक जांच के निर्देश दे चुके थे। समाज जांच की मांग पूर्ण होने पर संतुष्ट् था। तथा वह मुख्यमंत्री जी का आभार ज्ञापित करने के लिए एकत्रित हुआ था। कार्यक्रम में कुछ लोगो ने सतनामी समाज को बदनाम करने के लिए योजना बद्ध ढंग से आगजनी, लूट सरकारी सम्पलति को नुकसान पहुंचाना, हत्याक का प्रयास जैस गंभीर अपराध किये जो निदनीय है।

राहुल गांधी कथन की यदि नरेन्द्र मोदी तीसरी बार शपथ लेते है तो देश में आग लग जायेगी इस वाक्य को चरितार्थ करने वाला है। सब कुछ योजना बद्ध तरीके से किया गया। असामाजिक तत्वों ने लगभग 150 टू-व्हीलर और चार चक्काज गाड़िया जलाकर राख कर दी। बलौदाबाजार जिले की शान कंपोजिट बिल्डिंग जला दी गई और आग बुझाने आने वाले तीन फायर ब्रिगेड को भी उपद्रवियों ने फूंक दिया। 40 पुलिस कर्मी घायल हुये है मीडिया के साथियों को भी पीटा गया है।

आम जन को भी सड़को पर दौड़ा-दौड़ा कर पीटा गया। उनकी गाड़िया जला दी गई। बलौदाबाजार रजिस्ट्री कार्यालय में भी लाखों की लूट भी रजिस्ट्री कराने आने वाले लोगों से की गई। ऐसे कृत्य सतनामी समाज के द्वारा कभी नहीं किया जा सकता। यह समाज तो शांति और भाईचारे का संदेश देने वाला समाज है। इस पूरे घटनाक्रम के पीछे राजनैतिक षडयंत्र है, जैसा की राहुल गांधी ने पहले ही कह दिया था, उसी तरह की आगजनी की घटना की गई है। केन्द्र तथा राज्य में भाजपा की सरकार को जो सहन नहीं कर पा रहे हैं, ऐसे कांग्रेस पार्टी के षडयंत्र से यह दुःखद घटना हुई है।

कांग्रेस पार्टी के पूर्व मंत्री- रूद्र कुमार, कांग्रेस पार्टी के पूर्व मंत्री- शिव कुमार डहरिया,  कांग्रेस पार्टी के विधायक- कविता प्राण लहरे,  कांग्रेस पार्टी के विधायक- देवेन्द्र यादव, कांग्रेस पार्टी की पूर्व राज्य सभा सांसद- छाया वर्मा, कांग्रेस पार्टी के विधायक- संदीप साहू, कांग्रेस पार्टी के पूर्व जि.पं. अध्यक्ष- भोज राम अजगले, कांग्रेस पार्टी के विधायक- इन्द्र साव, कांग्रेस पार्टी के पूर्व विधायक- भूवनेश्वर बघेल,  शिक्षक- मोहन बंजारे आदि सम्मिलित थे। इन्हीं लोगों ने प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से इस आगजनी और लूट की घटना को परवान चढ़ाया है।

यह घटना कांग्रेस पार्टी की सोची समझी सजिश का नतीजा है। विष्णु सरकार को बदनाम करने का कुत्सित प्रयास किया गया। भीम आर्मी जैसे बाहरी विचार धारा का भी समर्थन लिया गया, जिसकी जितनी भी निंदा की जाए कम है। छत्तीगसगढ़ में राजनीति के लिए कांग्रेस इतने नीचे स्तर पर जा सकती है यह किसी ने नहीं सोचा था। इस सोचे समझे षड्यंत्र में लोक संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया और प्रशासन को असफल और पंगू बनाने की नकाम कोशिश की गई।
राजनैतिक सार्वजनिक जीवन में ऐसे सौहार्द बिगाड़ने वाले और इस घटना शामिल तमाम दोषियों पर कठोर कार्यवाही की जायेंगी साथ ही लोक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले लोगों से इसकी वसूली की जायेगी।

 

समाचार स्रोत  सीजी टॉप छत्तीसगढ़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *