भारतीय सांस्कृतिक एकता के प्रतीक : आदि गुरु शंकराचार्य

ब्रह्म सत्यं जगन्मिथ्या जीवो ब्रह्मैव नापरः – ब्रह्म ही सत्य है, जगत मिथ्या और जीव ही ब्रह्म है। वेदांत की

Read more