देश का लॉजिस्टिक हब बनेगा छत्तीसगढ़ – श्री अरूण जेटली

केंद्रीय वित्त मंत्री श्री अरूण जेटली ने कहा है जीएसटी लागू होने के बाद छत्तीसगढ़ राज्य में देश का लॉजिस्टिक हब बनने की प्रबल संभावना है। भौगोलिक दृष्टि से देश के मध्य भाग में स्थित होने के कारण छत्तीसगढ़ में उपभोक्ता वस्तुओं का निर्माण करने वाली कंपनियां गोदामों का निर्माण करवा सकती है और यहां से कुछ ही घंटो में देश के किसी भी हिस्से में माल पहुंचाया जा सकता है।

केंद्रीय वित्त मंत्री श्री जेटली आज राजधानी रायपुर में वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) कानून पर एक दिवसीय कार्यशाला को मुख्य अतिथि की आसंदी से संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने की। कार्यशाला का आयोजन छत्तीसगढ़ सरकार के वाणिज्यिक-कर और जीएसटी विभाग द्वारा किया गया। केंद्रीय वित्त मंत्री श्री जेटली ने कहा कि जीएसटी परिषद में देश के सभी राज्य सदस्य हैं। इस परिषद की बैठकों में छत्तीसगढ़ राज्य की भूमिका सबसे ज्यादा सक्रिय और सराहनीय थी। जीएसटी परिषद की बैठकों में लिए गए निर्णयों में छत्तीसगढ़ राज्य की ओर से प्रस्तुत सुझावों का महत्वपूर्ण योगदान था।
श्री जेटली ने कहा- सरदार पटेल के प्रयासों से देश का राजनैतिक एकीकरण हुआ था लेकिन देश आर्थिक दृष्टि से कभी एक नहीं था। 70 साल से देश की जो आर्थिक व्यवस्था चली आ रही थी वह टैक्स भरने को प्रोत्साहित नहीं करती थी। जीएसटी से देश, व्यापार, निर्माता, व्यापारी और आम जनता सभी को लाभ मिलेगा। व्यापार-व्यवसाय से जुड़े लोग जितनी जल्दी से इस ऑनलाईन प्रणाली को समझ लेंगें। जीएसटी प्रणाली ऑनलाईन होने के कारण अधिकारियों का हस्तक्षेप कम होगा। जीएसटी में जितना राजस्व संकलन होगा उतना ही प्रदेश के विकास के लिये धन उपलब्ध होगा। केंद्रीय वित्त मंत्री ने जीएसटी की बारीकियां बताते हुए इसके संबंध में भ्रांतियों को दूर किया।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा – प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय वित्त मंत्री श्री अरूण जेटली ने जीएसटी कानून लागू करवाया। इससे देश के आर्थिक एकीकरण का मार्ग प्रशस्त हुआ है। केंद्रीय वित्त मंत्री के रूप में श्री अरूण जेटली ने जीएसटी को लागू करने भारत की क्षेत्रीय विविधता, अलग-अलग राज्य एवं अलग-अलग विचारधारा की सरकारों के मध्य सामंजस्य बनाने का अद्भुत कार्य किया है। डॉ. सिंह ने कहा – जीएसटी के लागू होने से हिंदुस्तान और छत्तीसगढ़ में नये आर्थिक युग की शुरूआत हुई है। एक देश, एक बाजार और एक टैक्स की परिकल्पना साकार होने से देश का आर्थिक रूप से एकीकरण हुआ है। इसके फलस्वरूप देश की जीडीपी बढ़ेगी, उद्योग और व्यापार में सहूलियत होगी। मुख्यमंत्री ने जीएसटी काउंसिल की बैठकों में छत्तीसगढ़ और देश के लोगों की भावनाओं को देखते हुए आर्थिक विषयों को मजबूती से रखने के लिये प्रदेश के वाणिज्यिक कर मंत्री श्री अमर अग्रवाल की प्रशंसा की।
छत्तीसगढ़ सरकार के वाणिज्यिक-कर मंत्री श्री अमर अग्रवाल ने कहा -वह जीएसटी काउंसिल की 18 बैठकों में शामिल हुए हैं। जीएसटी कानून व्यापक चर्चा , अध्ययन और राज्यों की सहमति के बाद लागू की गई है । इससे जीएसटी लागू होने पर व्यापारियों और उपभोक्ताओं को कोई परेशानी नहीं होगी। जीएसटी के बारे मे जानकारी नहीं होने के कारण लोग शंका व्यक्त करते हैं। लोगों की आशंकाओं को दूर करने के लिये आज कार्यशाला का आयोजन किया गया है। इस अवसर पर लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड, वित्त,वाणिज्यिक-कर और जीएसटी विभाग के प्रमुख सचिव श्री अमिताभ जैन तथा भारतीय उद्योग परिसंघ, चार्टर्ड एकाउंटेंट एसोशियेशन और छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स के अनेक पदाधिकारी और उदयोग-व्यापार जगत से जुड़े प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Short URL: http://newsexpres.com/?p=1576

Posted by on Jul 9 2017. Filed under futured, छत्तीसगढ. You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. You can leave a response or trackback to this entry

Leave a Reply

Photo Gallery

Log in | Designed by R.S.Shekhawat