एक ऐसा यंत्र जिसके बिना निर्माण कार्य प्राचीन काल में संभव नहीं था।

चूना पत्थर फ़ोड़ने पर घड़ घड़ की ध्वनि निकलने के कारण इसका नामकरण घराट हो गया। जब मनुष्य ने विकास के पायदान पर भवन निर्माण में चूने का महत्व जाना तो उसे मिलाने के “घरट” नामक यंत्र का अविष्कार किया।

Read more
Page 1 of 11