क्यों कैद हैं गणेश भगवान यहाँ, खुद ही जान लीजिए

दुनिया भी अजग-गजब है, सूरत के रहने वाले कनुभाई असोदिया के घर में संसार के सबसे कीमती गणेश जी की पूजा होती है। कीमती! हाँ जी, इन गणेश जी के विग्रह की बाजार में कीमत 600 करोड़ रुपए है। हैरान हो गए हो न आप?

इन गणेश जी की पूजा हर आदमी नहीं कर पाता, सुरक्षा की दृष्टि से बहुत कम लोग ही यहाँ तक पहुंच पाते हैं। सुरक्षा की दृष्टि से हमेंशा इन्हें कैद में रहना पड़ता है। आप चित्रों में देख लीजिए और दर्शन कर समझ लीजिए।

कनुभाई सूरत में हीरों के कारोबारी हैं, इन्होंने वर्षों पूर्व बेल्जियम से हीरों का जखीरा मंगवाया था, उसमें भगवान गणेश की आकृति का एक डायमंड निकला। जिसे इन्होंने तराशने की बजाए अपने पूजा गृह में स्थापित कर लिया।

कनुभाई के अनुसार डायमंड गणेश की यह आकृति मुंबई के सिद्घि विनायक मंदिर में रखी जा चुकी है वहां के पुजारियों और भक्तों ने भी इसके दर्शन का लाभ लिया है।

यही नहीं देश विदेश के कई जानी मानी हस्तियां इन 600 करोड़ रुपए के गणेश जी के दर्शन के लिए सूरत आ चुकी हैं। कोहिनूर से भी ज्यादा कीमती आने वाले दिनों में ताजमहल की तरह लोग देश विदेश से देखने आए हैं। कनु भाई इस हीरे को बेचना नहीं चाहते।

कोहिनूर हीरे से भी यह गणेश हीरा ज्यादा कीमती है क्योंकि कोहिनूर का वजन 105 कैरेट है जबकि इस गणेश रूपी हीरे का वजन 182 कैरेट 53 सेंट है, जो हिन्दू धर्म का प्रतीक है। और हम गर्व से कह सकते है कि कोहिनूर की जगह अब हमारे पास गणेश हीरा है।

साभार 

One thought on “क्यों कैद हैं गणेश भगवान यहाँ, खुद ही जान लीजिए

  • May 23, 2018 at 10:52
    Permalink

    बहुत सुंदर जय गणपति 🌷🙏

Comments are closed.