लैला टिपटॉप छैला अंगूठाछाप: ‘राधे’ और ‘कुछ खोना है कुछ पाना’

हाल ही में रिलीज हुई छत्तीसगढ़ी फिल्म ‘लैला टिपटॉप छैला अंगूठा छाप‘ की पूरी कास्टिंग ही छत्तीसगढ़ी  संगी गीत ‘कुछ खोना है

Read more

बाबू प्यारेलाल गुप्त जी की स्मृति में आयोजित संगोष्ठी सम्पन्न

महंत घासीदास संग्रहालय परिसर स्थित सभागार में छत्तीसगढ़ शासन, संस्कृति विभाग द्वारा विशिष्ट साहित्यकार, पुरातत्वज्ञ और इतिहासकार श्री प्यारेलाल गुप्त

Read more

भूलन कांदा : भई डिस्कवरी मेरी है – विष्णु खरे

रायपुर। संजीव बख्शी के चर्चित उपन्यास भूलनकांदा का विमोचन वृंदावन के स्पेक्ट्रम हॉल में 26 फ़रवरी 2011 को सम्पन्न हुआ।

Read more