हाथियों और वन्य पशुओं से लोगों को सतर्क करने बना मित्र दल

रायपुर (न्यूज एक्सप्रेस) घने जंगलों के बीच बसे जशपुर जिले के जबला गांव के वांशिदों ने हाथियों और वन्य पशुओं के आक्रमण से लोगों को सतर्क करने हाथी मित्र दल बनाया है।

मित्र दल न केवल हाथियों एवं अन्य जंगली पशुओं के गांव में घुसने पर लोगों को सूचित करता है, बल्कि जान-माल के नुकसान से बचने जरूरी उपाय भी करता है।

हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत राजधानी रायपुर के अध्ययन यात्रा पर आए ग्राम जबला निवासी जनपद सदस्य श्री कुलदीप पैकरा बताते हैं कि बादलखोल अभयारण्य के पास बसे होने के कारण उनके गांव में हाथी और अन्य वन्य प्राणी कभी भी आ धमकते हैं। गांववाले इनके हमले और संपत्ति के नुकसान से हमेशा भयभीत रहते हैं।

जान-माल के नुकसान से बचने जबला और आसपास के गांव के लोगों ने मिलकर हाथी मित्र दल बनाया है।

श्री कुलदीप पैकरा बताते हैं कि गांव में जंगली जानवरों की आमद होने पर मित्र दल लोगों को सावधान कर देता है। वन विभाग को सूचित करने के साथ ही दल उन्हें सुरक्षित वापस जंगल में खदेड़ने की कोशिश करता है।

मित्र दल आकस्मिक घटनाओं में जानवरों के हिंसक हमले या किसी भी प्रकार के जन-धन के नुकसान पर शासन के नियमों के तहत प्रभावितों को तत्काल सहायता राशि उपलब्ध कराने में हरसंभव मदद करता है।

अपने इलाके में पंचायतों द्वारा किए जा रहे कार्यों के बारे में श्री पैकरा कहते हैं कि वहां शिक्षा के क्षेत्र में बहुत विकास हुआ है।

पहले गांव से स्कूल बहुत दूर होने के कारण बच्चे पढ़ नहीं पाते थे। कई बच्चों को बीच में ही पढ़ाई छोड़नी पड़ती थी।

अब क्षेत्र में स्कूल के साथ-साथ उच्च शिक्षा की सुविधा भी मिल रही है। वे बताते है कि उनके क्षेत्र के हर जनपद सदस्य एक स्कूल की जिम्मेदारी लेकर शिक्षा की गुणवत्ता सुधार रहे हैं। जनपद सदस्य स्कूलों की मॉनिटरिंग के साथ-साथ वहां की समस्याओं का समाधान भी कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.