राज्य गौसेवा आयोग के तत्कालीन पंजीयक निलंबित

रायपुर / राज्य सरकार ने दुर्ग और बेमेतरा जिलों की तीन गौशालाओं में अधिक संख्या में गायों की मृत्यु के मामले में छत्तीसगढ़ राज्य गौसेवा आयोग के तत्कालीन पंजीयक और वर्तमान में राज्य स्तरीय पशु चिकित्सालय रायपुर के उपसंचालक डॉ. शंकर लाल उईके को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। उन पर कार्य के प्रति लापरवाही बरतने का आरोप है। पशुधन विकास विभाग द्वारा उनका निलंबन आदेश परसों 26 अगस्त को यहां मंत्रालय (महानदी भवन) से जारी किया गया।
निलंबन आदेश में कहा गया है कि राज्य मे गौशालाओं के उचित प्रबंधन के लिए पर्याप्त अनुश्रवण और अनुशीलन विगत कई वर्षो से सुनिश्चित नहीं किए जाने के परिणाम स्वरूप दुर्ग जिले के ग्राम राजपुर (विकासखण्ड-धमधा) स्थित शगुन गौशाला और जिला बेमेतरा के ग्राम गोडमर्रा (विकासखण्ड-साजा) स्थित फूलचंद गौशाला तथा ग्राम रानो (विकासखण्ड-साजा) स्थित मयूरी गौरक्षा केन्द्र में पशुओं की आकस्मिक मृत्यु की घटना हुई है। इस घटना के परिलक्षित होने से गौसेवा आयोग में विगत वर्षो से पदस्थ पंजीयक द्वारा सुरक्षात्मक कार्रवाई नहीं की गई और कार्य के प्रति लापरवाही बरती गई। इन कारणों से डॉ. शंकर लाल उईके आयोग के तत्कालीन पंजीयक और वर्तमान में उपसंचालक राज्य स्तरीय पशुचिकित्सालय रायपुर को छत्तीसगढ़ सिविल सेवा (वर्गीकरण, नियंत्रण तथा अपील) नियम 1966 के नियम 9 के तहत तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। निलंबन अवधि में उनकी मुख्यालय पशुचिकित्सा संचालनालय नया रायपुर में रहेगा। डॉ. उईके छत्तीसगढ़ राज्य पशुधन विकास अभिकरण रायपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी भी थे। उनको निलंबित किए जाने के कारण अभिकरण में पूर्णकालिक मुख्य कार्यपालन अधिकारी का प्रभार डॉ. के.के. ध्रुव (अपर संचालक) को सौंपा गया है।
मंत्रालय से 26 अगस्त को जारी आदेश में पशुधन विकास विभाग ने तीनों गौशालाओं में अधिक संख्या में गायों की मृत्यु के मामले में विभाग के संयुक्त संचालक डॉ. एस.के. पाणीग्राही, सचिव छत्तीसगढ़ राज्य जीव-जन्तु कल्याण बोर्ड और डॉ. आर.जी. देवरस पशु चिकित्सा सहायक शल्यज्ञ राज्य जीव-जन्तु कल्याण बोर्ड रायपुर को छत्तीसगढ़ राज्य गौसेवा आयोग के अतिरिक्त प्रभारों से हटा दिया है। डॉ. पाणीग्राही को गौसेवा आयोग के सचिव पद के अतिरिक्त प्रभार से और डॉ. आर.जी. देवरस को गौसेवा आयोग के पंजीयक पद के अतिरिक्त पद से हटाया गया है। आदेश में पशु चिकित्सा सेवा संचालनालय के संयुक्त संचालक डॉ. एम.पी. पासी को छत्तीसगढ़ राज्य गौसेवा आयोग में पूर्णकालिक सचिव के कार्य संपादन हेतु आगामी आदेश तक सम्बद्ध किया गया है। संचालनालय के उप संचालक डॉ. के.के. सोनी को छत्तीसगढ़ गौसेवा आयोग रायपुर के पूर्णकालिक पंजीयक के पद पर अस्थायी रूप से सम्बद्ध किया गया है। डॉ. एन.के. शुक्ला, उप संचालक राज्य स्तरीय अन्वेषण प्रयोगशाला को अस्थायी रूप से आगामी आदेश पर्यन्त उप संचालक राज्य स्तरीय पशुचिकित्सालय रायपुर का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है।/div>

Short URL: http://newsexpres.com/?p=1756

Posted by on Aug 29 2017. Filed under छत्तीसगढ. You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. You can leave a response or trackback to this entry

Leave a Reply

Log in | Designed by R.S.Shekhawat