तीरथ बरत योजना में प्रदेश के वृद्धजन और दिव्यांग करेंगे देशभर के तीर्थों का निःशुल्क दर्शन

रायपुर, 31 मई 2019/ छत्तीसगढ़ सरकार ‘तीरथ बरत योजना‘ के तहत अगामी चार महीनों में लगभग 15 हजार वरिष्ठ नागरिकों  और एक हजार दिव्यांगों को  देश भर के विभिन्न तीर्थ स्थानों का निःशुल्क दर्शन कराएगी। समाज कल्याण मंत्री श्रीमती अनिला भेंड़िया के आदेश पर महानदी भवन से समाज कल्याण विभाग द्वारा इस वर्ष जून से सितम्बर माह के तीर्थ यात्रा कार्यक्रम के लिए स्वीकृति जारी कर दी गई है।
जारी आदेश के अनुसार विभिन्न जिलों से प्रति यात्रा 1000 यात्री ले जाने का लक्ष्य रखा गया है। योजना के तहत प्रदेश के लगभग एक हजार दिव्यांग 30 जुलाई को प्रयाग, काशी विश्वनाथ और हनुमान मंदिर के दर्शन के लिए रवाना होंगे।
इसी तरह छत्तीसगढ़ के सभी जिलों से लगभग एक हजार बुजुर्ग 2 सितम्बर को अजमेर शरीफ,पुष्कर,आगरा (सलीम चिश्ती की दरगाह) और एक हजार बुजुर्ग 11 सितम्बर को अमृतसर स्वर्णमंदिर,वैष्णो माता मंदिर,वाघा बार्डर जाएंगे।
बस्तर,दंतेवाड़ा,बीजापुर और सुकमा जिले के बुजुर्ग 4 जून को रायपुर से गंगासागर, बिरला मंदिर, कालीघाट मंदिर के दर्शन के लिए जाएंगे। बिलासपुर और कोरबा जिले के बुजुर्ग 10 जून से 15 जून तक और कोरिया, सूरजपुर, बलरामपुर, सरगुजा जिले के बुजुर्ग 22 से 17 जुलाई तक कामाख्या मंदिर, नवग्रह मंदिर, वशिष्ट मुनि का आश्रम, उमानंद मंदिर, शिवजी का मंदिर, शंकरकला क्षेत्र गुवाहाटी के दर्शन करेंगें।
बिलासपुर और कोरबा जिले के लिए कोरबा से और कोरिया,सूरजपुर,बलरामपुर,सरगुजा जिले के लिए अम्बिकापुर से यात्रा प्रारंभ होगी। इसी तरह रायगढ़ और जशपुर जिले के वरिष्ठ नागरिक हरिद्वार, ऋषिकेश,भारत माता के दर्शन के लिए 19 जून को रायगढ़ से रवाना होंगे।
योजना के तहत नारायणपुर, कोण्डागांव, कांकेर जिले के वरिष्ठजन द्वारका, सोमनाथ, नागेश्वर के लिए 26 जून को रायपुर से रवाना होंगेे। मुंगेली, जांजगीर-चांपा जिले से बुजुर्ग तिरूपति, मदुरै, रामेश्वरम की यात्रा पर 5 जुलाई को जाएंगे।
राजनांदगांव और कबीरधाम जिले के बुजुर्ग 16 जुलाई से 18 जुलाई तक बाबा बैजनाथ धाम, बजरंगबली मंदिर, अनुकुल ठाकुर जी का संत्संग मंदिर के दर्शन करेंगे। धमतरी और बालोद जिले के वरिष्ठ नागरिक 5 अगस्त को, बलौदाबाजार और महासमुद के बुजुर्ग 26 अगस्त को और बस्तर, दंतेवाड़ा, बीजापुर, सुकमा जिले के बुजुर्ग 18 सितंबर को पुरी, भुवनेश्वर और कोणार्क दर्शन के लिए रवाना होंगे।
दुर्ग और बेमेतरा जिले के बुजुर्ग 12 अगस्त को दुर्ग से उज्जैन, ओंकारेश्वर और महाकालेश्वर की तीर्थयात्रा को जाएंगे। रायपुर और गरियाबंद के वृ़द्धजन 19 अगस्त को मथुरा, वृंदावन दर्शन के लिए जाएंगे। इसी तरह 24 सितम्बर को बिलासपुर और कोरबा जिले के बुजुर्ग शरडी, शनि सिंगनापुर, त्रयंबकेश्वर दर्शन के लिए रवाना होंगे।
उल्लेखनीय है कि समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित ‘तीरथ बरत योजना‘ के तहत 60 वर्ष या इससे अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों और 18 वर्ष से अधिक आयु के निःशक्तजनों को को राज्य के बाहर विभिन्न तीर्थस्थलों की जीवन में एक बार निःशुल्क यात्रा कराई जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.