शास्त्रीय नृत्य और संगीत के दस दिवसीय अखिल भारतीय आयोजन का शुभारंभ

शास्त्रीय नृत्य और संगीत के 32वें अखिल भारतीय आयोजन  ’चक्रधर समारोह’ का मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने गणेश चतुर्थी के अवसर पर शुभारंभ किया। उन्होंने जिला मुख्यालय रायगढ़ के रामलीला मैदान में समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा- कला, साहित्य और संगीत की इस नगरी में चक्रधर समारोह के लगातार 32 वर्षों से हो रहे इस आयोजन के जरिए छत्तीसगढ़ को देश-विदेश में एक नई पहचान और प्रतिष्ठा मिली है। इस आयोजन में सम्मिलित होकर कलाकार स्वयं को गौरवान्वित महसूस करते हैं।

चक्रधर समारोह का शुभारंभ करते हुए डॉ रमन सिंह

रायगढ़ में चक्रधर समारोह का शुभारंभ करते हुए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह

मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ में साहित्य, कला और संस्कृति के क्षेत्र में राजा चक्रधर सिंह के ऐतिहासिक योगदान का उल्लेख करते हुए कहा कि राजा साहब ने अपना सम्पूर्ण जीवन कला साधना के लिए समर्पित कर दिया और नवोदित कलाकारों को प्रोत्साहित कर उन्हें आगे बढ़ाया। डॉ. सिंह ने कहा-राजा चक्रधर सिंह ने शास्त्रीय नृत्य कथक की रायगढ़ शैली का विकास किया, जिसे देश के कला जगत में ’रायगढ़ घराना’ के नाम से पहचाना जाता है। मुख्यमंत्री ने राजा चक्रधर सिंह के चित्र पर माल्यार्पण और दीप प्रज्ज्वलित कर समारोह का शुभारंभ किया।

उन्होंने आयोजन में अपनी प्रस्तुति देने के लिए आए कलाकारों का अभिनंदन किया और समारोह की सफलता की कामना की। समारोह को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने रायगढ़ में राजा चक्रधर सिंह के नाम पर ’चक्रधर कला केन्द्र’ की स्वीकृति प्रदान करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि इस केन्द्र में नृत्य और संगीत के नवोदित कलाकारों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने इस केन्द्र की स्थापना के लिए आवश्यक पदों की भी स्वीकृति प्रदान कर दी।

उल्लेखनीय है कि तत्कालीन रायगढ़ रियासत के महान संगीतज्ञ राजा चक्रधर सिंह का जन्म गणेश चतुर्थी के दिन हुआ था। संगीत और कला के क्षेत्र में उनके योगदान को यादगार बनाए रखने के लिए राज्य सरकार, जिला प्रशासन और स्थानीय नागरिकों के सहयोग से रायगढ़ में हर साल गणेश चतुर्थी के दिन दस दिवसीय चक्रधर समारोह का आयोजन किया जाता है। मुख्यमंत्री ने आज समारोह के शुभारंभ सत्र को सम्बोधित करते हुए सभी लोगों को गणेश चतुर्थी और शिक्षक दिवस की भी बधाई दी।

इस अवसर पर केन्द्रीय इस्पात राज्य मंत्री श्री विष्णुदेव साय, छत्तीसगढ़ के गृह मंत्री श्री रामसेवक पैकरा, नगरीय प्रशासन और विकास मंत्री श्री अमर अग्रवाल, पर्यटन और संस्कृति मंत्री श्री दयालदास बघेल, संसदीय सचिव श्रीमती सुनीति राठिया, विधायक श्री रोशनलाल अग्रवाल और श्रीमती केराबाई मनहर सहित अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि तथा प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी और बड़ी संख्या में कलाप्रेमी नागरिक उपस्थित थे। चक्रधर समारोह की पहली सांस्कृतिक संध्या का शुभारंभ डॉ. विभाष पाठक और ईशान दुबे द्वारा गणेश वंदना से की गई। इस मौके पर सुप्रसिद्ध पार्श्व गायक, पदमभूषण अलंकरण से सम्मानित श्री येशुदास ने आकर्षक शास्त्रीय गायन प्रस्तुत किया।

समारोह में कल छह सितम्बर को सुश्री अंकिता राउत और उनकी कला मंडली द्वारा ओड़िशी नृत्य, जयपुर के श्री मोहम्मद अमान द्वारा शास्त्रीय गायन प्रस्तुत किया जाएगा। उनके अलावा भिलाई नगर की नृत्यति संस्था के कलाकार कुचिपुड़ी और भरतनाट्यम प्रस्तुत करेंगे। समारोह की तीसरी सांस्कृतिक संध्या में सात सितम्बर को मुम्बई की सुश्री अनुराधा पाल और उनकी टीम के द्वारा तालवाद्य की प्रस्तुति दी जाएगी। उनके अलावा दिल्ली के श्री अभिमन्यु लाल और उनके सहयोगी कलाकार कथक नृत्य तथा रायपुर की सुश्री ममता चंद्राकर द्वारा छत्तीसगढ़ी लोकरंग के कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाएंगे।

Short URL: http://newsexpres.com/?p=1364

Posted by on Sep 5 2016. Filed under futured, छत्तीसगढ, रायगढ. You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. You can leave a response or trackback to this entry

Leave a Reply

Photo Gallery

Log in | Designed by R.S.Shekhawat